हमारी सरकार और जनता

Posted: April 3, 2013 by Ankur in Live Events, Writes...
Tags: , ,

संसार, पूरा संसार एक जीवन चक्र, एक जीवन श्रंखला से बँधा हुआ हैं | सभी एक दूसरे पर आश्रित हैं | जीवन में कोई भी ऐसी चीज़ नहीं है जो किसी के लिए या किसी के कारण नहीं होती हो | हर काम हर चीज़ एक दूसरे पर निर्भर हैं |

संसार में चाहे इंसान हो या जानवर सभी एक दूसरे पर आश्रित हैं, यहाँ तक की प्रकृति भी हम पर ही निर्भर करती है | जैसा हम संसार मेी रहकर कार्य करते हैं वैसे ही हर चीज़ उस अनुसार हो जाती हैं|

जैसा की हम समझ सकते हैं की हमारी सरकार, बड़ी-बड़ी सरकारें बस नाम की है, लेकिन काम की नहीं | हमारी सरकार सिर्फ़ अपनो से छोटे लोगो को नीचा दिखाने और खुद को बहुत अछा साबित करने के अलावा कुछ नहीं कर सकती है | हम जनता हैं, हमें हमेशा बड़े-बड़े नेताओं में दबे रहने पड़ता हैं| क्यूँ? ऐसी कोई दीवार होनी चाहिए जो हमे ऐसे भ्रष्ट नेताओं और भ्रष्टाचार करने वालों से बचा सकें| हमेशा से यही चलता आ रहा हैं कि हमे हमारे नेताओं के तले दबे रहते हैं और वो भ्रष्ट होते हुए भी उँचे बने रहते हैं |

selected (24)

देश में हर तरफ ग़रीबी, भुखमरी फैली हुई हैं, जगह-जगह पर उसको हटाने का काम कोई सरकार नहीं करती,वो सिर्फ़ अपनो से निम्न पद पे बैठे लोगो को नीचे गिराने का काम ही कर सकती हैं |

दुनिया मे हर तरीके का परिवर्तन आया है,सभी ने पश्चिमी रीति-रिवाज़ों को अपनाया हैं | निम्न पद के लोगो हमेशा उच्च पद के लोगो से डरते ही थे, और अभी भी दर ही रहे हैं | ऐसा क्यूँ? जब देश में सबको समानता का अधिकार प्राप्त हैं तो फिर कोई किसी से बड़ा कैसे और कोई किसी से छोटा कैसे? सभी इंसान समान होते हुए भी उनमें श्रेणी भेदभाव,जाती अभी भी होता हैं|

लोगो ने सभी चीज़ों में पश्चिमी रीति-रिवाज़ों को अपनाया हैं,परंतु इन चीज़ों में तो वो अभी भी वहीं के वहीं हैं | हमे एक ऐसी दीवार का निर्माण करना चाहिए जो ऐसी सब चीज़े होने से रोकें | इनका कड़ा विरोध करें | हम सभी को एकजुट होकर इसका विरोध करना चाहिए और और सबसे अहम बात तो ये की हमारी सरकार और जनता अगर मिलकर साथ-साथ काम करें तो आज हमारा देश सच में “सोने की चिड़िया” तो ये बात तब सच में सफल हो जाएगी की हाँ हमारा भारत सच में वैसा ही बन जाएगा |

इसी तरह सरकार और जनता को मिलकर देश का निर्माण एक सहज, सुस्पष्ट ढंग से करना चाहिए !

logoDivyani Jigyasu

https://www.facebook.com/divyani.jigyasu

Creative Writing event @ Panache 2013 by CampusWriting…

Advertisements
Comments
  1. aradhna karva says:

    gud one… 🙂

  2. riyadashoriya says:

    bahutt badiyaa (y) 🙂

  3. perfectly discribed the ongoing scenario…nice one..:)

  4. praveen4272 says:

    nice one…:)

  5. Lakhan Soni says:

    yeah!!!…
    india need such a writers who encourage the public of india…:)
    this is nice start…:)

    well done
    keep it up

  6. Aashish Massand says:

    nicely said 🙂

  7. vivek dubey says:

    thank”s

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s